रिपोर्ट @जीपीएम जिला ब्यूरो अमित जयसवाल

जीपीएम पुलिस के जवानों ने किया दो दिवसीय वार्षिक फायरिंग अभ्यास, जिले की पहली चांदमारी सम्पन्न

जिला पुलिस बल जीपीएम का वार्षिक चांदमारी का आयोजन कोटा फायरिंग रेंज में किया गया। फायरिंग रेंज में चांदमारी हेतु पुलिस अधीक्षक जीपीएम श्री सूरज सिंह परिहार व जिले के राजपत्रित पुलिस अधिकारियों सहित थाना व रक्षित केंद्र के पुलिस कर्मचारियों ने टारगेट पर निशाना लगाने का अभ्यास किया । जीपीएम पुलिस के अधिकारी एवं कर्मचारियों के चांदमारी का यह पहला आयोजन है। दो दिवसीय चांदमारी के आयोजन में आज पुलिस अधीक्षक जीपीएम की उपस्थिति में चांदमारी का अभ्यास हुआ जिसमें पुलिस अधीक्षक ने भी ना केवल AK-47 और ग्लोक पिस्टल से निशाना साधा बल्कि सभी उपस्थित अधिकारियों और कर्मचरियों को अच्छे अचूक फायरिंग के गुर सिखाए।

इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनुविभागीय अधिकारी पुलिस गौरेला, रक्षित निरीक्षक एवं जिले के थाना प्रभारी गण व थाना, रक्षित केंद्र के पुलिस अधिकारी कर्मचारियों ने भी निशाना लगाया।

पुलिस अधीक्षक सूरज सिंह परिहार ने फायरिंग रेंज पर उपस्थित सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को ब्रीफिंग करते हुए कहा कि फायरिंग रेंज में अच्छी फायरिंग हेतु मजल, बैरल और ट्रिगर डिसिप्लिन अत्यंत आवश्यक होता है । फायरिंग रेंज में दिए जाने वाले आदेशों को ध्यान पूर्वक सुनकर उसी के अनुरूप कार्यवाही करना चाहिए शरीर के साथ साथ दिमाग फायरिंग रेंज पर ही उपस्थित रहे, ताकि कोई हादसा ना हो।

इस दौरान पुलिस अधीक्षक महोदय ने अच्छे निशाने के लिए फायरिंग के समय बरते जाने वाले सावधानियों जैसे सांस का उचित विनियमन, ट्रिगर प्रेस और रिलीज़ की उचित कार्यवाही, प्रभावी सिस्त, मजबूत पकड़, कम्फ़र्टेबल फायरिंग पोजिशन इत्यादि के संबंध में बताते हुए उपस्थित कर्मचारियों से फायरिंग के कायदे के संबंध में प्रश्न भी पूछे, जहां दो आरक्षकों के जवाब संतोषप्रद पाए जाने पर पुलिस अधीक्षक महोदय ने दोनों आरक्षकों को 100-100 रुपये का पुरस्कार उनकी सेवा पुस्तिका में दिया गया।
दोनों दिवस को मिलाकर राजपत्रित 04 एवं 128 अधिकारी एवं कर्मचारियों ने वार्षिक चांदमारी किया।

error: Content is protected !!