रिपोर्ट @जीपीएम जिला ब्यूरो अमित जयसवाल

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही 4 मार्च 2021/ जिले की कलेक्टर सुश्री नम्रता गांधी के दिशा-निर्देशन में विगत दिवस कलेक्ट्रेट परिसर के अरपा सभाकक्ष में दुर्ग संभाग के संयुक्त संचालक श्री राजेश कुमार राठौर द्वारा जिले के पंचायत विभाग एवं कृषि विभाग के विभिन्न अधिकारियों को वर्मी खाद निर्माण की संपूर्ण प्रक्रिया का प्रशिक्षण दिया गया है।
प्रशिक्षण में श्री राठौर द्वारा वर्मी खाद बनाए जाने के विभिन्न महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विस्तार से जानकारी दी गई है । उन्होंने कहा कि खाद बनाने की प्रक्रिया में गति लाना आवश्यक है। इसके लिए खाद निर्माण के सभी बिंदुओं पर ध्यान देना अत्यंत आवश्यक है । उन्होंने कहा कि वर्मी खाद के निर्माण में केंचुए का बहुत ही ज्यादा महत्व है इसलिए वर्मी खाद में ज्यादा से ज्यादा केंचुए जीवित रह सके इसके लिए हमें वर्मी बेड के टेंपरेचर, माइस्चर, ढके जाने वाले बोरे इत्यादि विभिन्न बिंदुओं पर विशेष ध्यान दिए जाने की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि खाद के निर्माण में तकनीकी ज्ञान कृषि विभाग द्वारा दिया जाना अत्यंत आवश्यक है जिससे अच्छी गुणवत्ता के वर्मी खाद का निर्माण किया जा सके। आयोजित प्रशिक्षण में परियोजना निदेशक श्री आर. के. खूटे, कृषि विभाग के उप संचालक श्री आर जी अहिरवार, समस्त जनपद मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगर पंचायत के मुख्य नगरपालिका अधिकारी, कृषि विभाग के समस्त ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, तकनीकी सहायक सहित विभिन्न अधिकारीगण उपस्थित थे।

error: Content is protected !!