मस्तूरी से विमल कांत की रिपोर्ट
कोरबा।
छत्तीसगढ़ शासन के बहुप्रतीक्षित योजना सरस्वती सायकल योजना अंतर्गत ’शाउमा विद्यालय लोहर्सी (सोन) में सायकल वितरण कार्यक्रम रखा गया था कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए सैनिटाइजर, मास्क व सोशल डिटेंसिग को ध्यान में रखते हुए। जिसमे अनुसूचित जाति वर्ग के 28 बालिका अनुसूचित जनजाति 20 बालिका, एवं अन्य पिछड़ा वर्ग 83 बालिका, ’कुल 131 बालिकाओं को सायकल वितरण किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रकाश तिवारी (अध्यक्ष, शाला विकास समिति) ने कहा कि निश्चित ही सरकार की इस योजना से प्रदेश भर में बालिकाओं की दर्ज संख्या में वृद्धि हुई है साथ ही गरीब मजदूर माता पिता के लिए यह योजना वरदान से कम नही। प्राचार्य एसकेटण्डन ने कहा कि इस योजना से ग्रामीण बालिका छात्राओं के चेहरे में मुश्कान देखा जा सकता है अधिकांश विद्यार्थी पढ़ाई के रुचि ले रहे है, यह इस बात को दर्शाता है कि हमारे विद्यालय में बालको की अपेक्षा संख्या में बालिकाओं की ज्यादा है। सरकार को बहुत बहुत धन्यवाद जो गरीब तपके के विद्यार्थियों के लिए ऐसी अनेक योजनाएं विद्यालय स्तर पर संचालित है। साथ ही सभी शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि इस कोरोना काल मे हमारे शिक्षक वृन्द अपनी स्वास्थ्य की चिंता न करके सरकार की सभी योजनाओं को घर घर जाकर विहड़ वनांचल में ग्रामीण छात्र-छात्राओं को लाभान्वित करवा रहे है उनका मैं सम्मान व उनको बधाई प्रकट देता हु। आरके डहरिया, केएम पाण्डल, हलधर साहू (सांसद प्रतिनिधि), धनन्जय साहू (विधायक प्रतिनिधि), शिक्षक गण आरके यादव, केके पटेल, आरके पटेल ओमकुमार दुबे, नरेंद्र दिनकर, धरम साहू इत्यादि उपस्थित रहे। यह जानकारी व्यायाम शिक्षक विजय रत्नाकर ने दिए।

error: Content is protected !!