वाशिंगटन। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप व उनके परिवार के खिलाफ चल रही दो जांचों के आगे बढ़ने से उनकी मुसीबतें भी बढ़ रही हैं। ट्रंप के खिलाफ न्यूयॉर्क की अटार्नी जनरल लेटिटिया जेम्स के कार्यालय द्वारा की जा रही सिविल मामलों की जांच में मिले तथ्यों को अब मैनहटन के डिस्ट्रिक्ट अटार्नी साइरस वेंस द्वारा की जा रही आपराधिक जांच में शामिल किया जाएगा।


अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति पद से हटने के बाद उनके व उनके परिवार के खिलाफ दो अलग-अलग जांच की जा रही हैं। इनमें एक जांच न्यूयॉर्क के अटॉर्नी जनरल के कार्यालय से हो रही है। सिविल की जांच को स्वतंत्र रूप से किया जा रहा था।

इसके अलावा मैनहटन के डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी के द्वारा ट्रंप ऑर्गनाइजेशन के खिलाफ आपराधिक जांच की जा रही है। यह जांच ट्रंप ऑर्गनाइजेशन के बैंक और टैक्स संबंधी धोखाधड़ी व वित्तीय मामलों में गड़बड़ी की हो रही है।इस जांच के दायरे में परिवार के सदस्य भी हैं। जांच में सही तथ्य सामने आ सकें, इसके लिए डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी के कार्यालय ने ट्रंप के मुख्य वित्तीय अधिकारी वीसलवर्ग पर शिकंजा कसा हुआ है, जिससे ट्रंप और उनकी कंपनी के खिलाफ जांच में सहयोग मिलता रहे।

अब ट्रंप आर्गनाइजेशन को न्यूयॉर्क अटॉर्नी जनरल के कार्यालय से बताया गया है कि उनके खिलाफ चल रही सिविल की जांच में मिले तथ्यों को आपराधिक जांच में शामिल किया जा सकता है। अब इन दोनों जांचों को संयुक्त रूप से करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके लिए न्यूयॉर्क के अटॉर्नी जनरल कार्यालय के दो सहायक अटॉर्नी जनरल आपराधिक जांच में सहयोग करने के लिए डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी जनरल की टीम में शामिल होंगे।

error: Content is protected !!