August 2, 2021

कोराना महामारी से मृत व्यक्तियों के बेसहारा/अनाथ बच्चों को निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराने महतारी दुलार योजना 2021 लागू पात्र छात्र-छात्रा या अभिभावकों से आवेदन आमंत्रित…

विकास कुमार यादव कि रिपोर्ट

कोराना महामारी से मृत व्यक्तियों के बेसहारा/अनाथ बच्चों को निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराने महतारी दुलार योजना 2021 लागू
पात्र छात्र-छात्रा या अभिभावकों से आवेदन आमंत्रित…

छत्तीसगढ़ राज्य शासन द्वारा कोविड-19 कोरोना महामारी से मृत व्यक्तियों के बेसहारा/अनाथ बच्चों को निःशुल्क स्कूली शिक्षा उपलब्ध कराने हेतु छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना 2021 लागू किया गया है। यह योजना शैक्षणिक सत्र 2021-22 से लागू होगा। जिसके तहत् ऐसे बच्चे जिनके परिवार से कमाने वाले माता या पिता की मृत्यु कोविड-19 से हुई हो या जिनके घर पर कमाने वाले वयस्क सदस्य न रहने के कारण भरण-पोषण की समस्या हो गई हो, उनके बच्चों को निःशुल्क शिक्षा दिया जायेगा। ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता दोनों की कोरोना से मृत्यु हो गई है, उनके बच्चों के कक्षा 1ली से कक्षा 12वीं तक शिक्षा का सम्पूर्ण व्यय शासन वहन करेगा। साथ ही स्कूल में प्रवेशित छात्रों को छात्रवृत्ति कक्षा 1ली से कक्षा 8वीं तक 500 रूपये प्रतिमाह एवं कक्षा 9वीं से कक्षा 12वीं तक 1000 रूपये प्रतिमाह देय होगा।
जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा कि ऐसे पात्र छात्र/छात्रा या अभिभावक जो अभी तक आवेदन जमा नहीं किये हैं, वे तत्काल सम्पूर्ण विवरण के साथ जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय रामानुजगंज या विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालयों में आवेदन जमा करें, ताकि छात्र-छात्राओं को योजना का लाभ दिया जा सके।

You may have missed

error: Content is protected !!